सहयोगी अनुसंधान और नेटवर्क
विभिन्न उपकरणों और प्लेटफार्मों
बहु मंच प्रयोग
हमारा नज़रिया
एसपीएल का विकास, भारत के अंतरिक्ष विज्ञान और अंतरिक्ष अनुसंधान के विकास के साथ घनिष्ठ रूप से जुडा हुआ है और इसको स्थापित हुए चार दशकों से अधिक हो गया है । परिज्ञापी रॉकेट परीक्षणों के लिए बुनियादी समर्थन प्रदान करनेवाली एक साधारण प्रयोगशाला से शुरुआत करनेवाली अंतरिक्ष भौतिकी प्रयोगशाला ने, अपने कार्यक्षेत्र का विस्तर करती हुई, वायुमंडलीय और अंतरिक्ष विज्ञान के समूचे क्षेत्र को अपने अधीन करती हुई तथा विज्ञान कार्यक्रमों में अपनी स्वायत्तता स्थापित करती हई लंबा सफर तय किया है। आज, इसने फ्रन्ट रैंकिंग अनुसंधान क्षेत्रों और समस्याओं के साथ एक जीवंत शैक्षणिक संस्थान का दर्जा प्राप्त कर लिया है और साथ ही अंतरराष्ट्रीय ख्याति युक्त एक मजबूत और जीवंत शोध अध्येता कार्यक्रम तथा देश की एक प्रमुख वायुमंडलीय, अंतरिक्ष एवं ग्रहीय अनुसंधान प्रयोगशाला का ओहदा भी। भारत और विदेशों के शिक्षाविदों और अन्य शोध संस्थानों के साथ इसका घनिष्ट संबंध है । प्रयोगशाला के विकास और वृद्धि के साथ-साथ पुरस्कार और प्रशंसा के रूप में पहचान भी बनती गई। एलपीएल के सामने आगामी वर्षों के लिए इसरो के व्यापक समर्थन के साथ निष्पादनार्थ कई महत्वाकांक्षी कार्यक्रम हैं।

 

हमारा उद्देश्य

भौमिक एवं ग्रहीय पर्यावरण के ऊर्ज़ा विज्ञान, गतिकी, एवं रसायन शास्त्र की वैज्ञानिक समझ,
तथा समाज़ पर इनकी विवक्षा

  हमारे निदेशक  
   
 

डॉ. के. राजीव

 

 

नवीनतम प्रकाशन


 

  • सिंह और अन्य, 2021, 19-21 दिसंबर, 2015 के दौरान भूमध्यरेखीय और निम्न-अक्षांश आयनोस्फीयर में भोर और शाम के क्षेत्रों में तूफान-समय इलेक्ट्रोडायनामिक्स की भूमिका", जर्नल ऑफ जियोफिजिकल रिसर्च।
  • कृष्णप्रसाद और अन्य, 2021, "सितंबर 2017 आईसीएमई घटना के दौरान मंगल पर आयनोस्फेरिक प्लाज्मा ऊर्जाकरण", ग्रह और अंतरिक्ष विज्ञान।
  • बोरेड्डी और अन्य, 2021, "उष्णकटिबंधीय भारत के पूर्वी तट से शहरी एरोसोल में कार्बनयुक्त और पानी में घुलनशील घटकों की विशेषताओं, स्रोतों और दैनिक पैटर्न में मौसमी बदलाव", पर्यावरण रसायन।
  • उषा और अन्य, 2021. “हिमालय क्षेत्र पर ऐरोसॉल के प्रत्यक्ष विकिरणी प्रभाव पर ऐरोसॉल इन्ड्यूज़ड स्नो डार्केनिंग का प्रभाव", पर्यावरण अनुसंधान पत्र।
  • सामुअल और अन्य, 2021. “मल्टि इयर-मेघा – ट्रॉपिक्स - सोंदेउर एटमॉस्फेरिक डू प्रोफिल डी'ह्यूमिडिटे इंटरट्रॉपिकल पार रेडियोमेट्री (SAPHIR)  प्रेक्षणों के उपयोग करते हुए ट्रॉपिक्स पर डीप कॉन्वेक्टीव बादलों की स्थानिक और कालिक परिवर्तनशीलता”,  सुदूर संवेदन के अंतर्राष्ट्रीय जर्नल।
  • कोमपल्ली और अन्य, 2021. “सर्दियों के दौरान उत्तरी हिंद महासागर के ऊपर दक्षिण एशियाई बहिर्वाह में रिफ्रैक्टरी ब्लैक कार्बन ऐरोसॉल का मिक्सिंग स्टेट”, ऐटमॉस्फेरिक केमिस्ट्री एंड फिज़िक्स।
  • बोरेडी और अन्य, 2021. “ट्रॉपिकल पेनिन्सुलार इंडिया के ऊपर विशिष्ट वायु संहति से संबंद्ध साइज़ रिज़ोलव्ड कोसेटल अर्बन ऐरोसॉल का रासायनिक अभिलक्षण, आकार वितरण और ऐरोसॉल लिक्विड वॉटर”, एसीएस एर्थ स्पेस केमिस्ट्री।
  • स्मिता और अन्य, 2021. मंगल ग्रह के टॉपसाइड आयनमंडल पर स्टेल्थ सीएमई का प्रभाव”, रॉयल ऐस्ट्रोनॉमिकल सोसाइटी की मासिक नोटिस।
  • प्रमिता और अन्य, 2021, “ट्रोपिकल स्टेशन के ऊपर क्षोभमंडल और निचले समताप मंडल के गुरुत्वाकर्षण तरंगों के ऊर्ध्वाधर तरंग नंबर स्पेक्ट्रा के प्रेक्षण और मॉडल प्रागुक्तियाँ”, जर्नल ऑफ ऐटमॉस्फेरिक एंड सोलर-टेरेस्ट्रियल फिज़िक्स।
  • गोगोई और अन्य, 2021, “ देश व्यापी लॉकडाउण पर पूरे भारतीय क्षेत्र में एंबियेन्ट बीसी कॉन्सेंट्रेशन की प्रतिक्रिया: इसरो-जीबीपी के ARFINET माप से प्राप्त परिणाम”, करन्ट साइन्स ।
  • लावण्या और कुमार, 2021, “तुंबा, भारत के डिसड्रोमीटर प्रेक्षणों का उपयोग करते हुए ट्रॉपिकल कोस्टल प्रेसिपिटेटिंग क्लाउड सिस्टम का वर्गीकरण”, ऐट्मोस्फेरिक रीसर्च    
  • मंजु और मृदुला, 2021. मंगल ग्रह के थर्मोस्फीयर में गुरुत्वाकर्षण तरंगों के स्थितिज ऊर्जा का प्रथम अनुमान: MAVEN NGIMS डेटा के माध्यम से एक विश्लेषण”, रॉयल एस्ट्रोनॉमिकल सोसाइटी की मासिक नोटीस
  • मृदुला और मंजु, 2021.MAVEN NGIMS से प्राप्त मंगल ग्रह के ऊपरी वायुमंडल के CO2 घनत्व के लॉजिट्यूडिनल स्ट्रक्चरों के दैनिक पैटर्न के मौसमी विकास पर”, जर्नल ऑफ ऐटमोस्फेरिक एंड सोलर-टेरेस्ट्रियल फिज़िक्स।
  • रेड्डी और अन्य, 2021. “पेनिन्सुलार इंडिया के एक अर्ध-शुष्क स्थान अनंतपुर (14.62° उत्तर, 77.65° पूर्व) के ऊपर सर्दियों के मौसम के दौरान वायुमंडलीय पृष्ठीय परत के अभिलक्षण”, जर्नल ऑफ ऐटमोस्फेरिक एंड सोलर-टेरेस्ट्रियल फिज़िक्स।
  • पॉल और सुब्रह्मण्यम, 2021, “COSMO  का उपयोग करते हुए उत्तरी हिंद महासागर पर ट्रॉपिकल चक्रवात प्रपथ की भविष्यवाणी”, मीटीअरॉलजी एंड ऐटमोस्फेरिक फिज़िक्स ।
  • सतीश और अन्य, 2021. “ट्रॉपिकल स्टेशन तुंबा (8.5°N, 76.9°E) के क्षोभमंडल और निचले समताप मंडल में ओज़ोन की परिवर्तनशीलता पर मौसम विज्ञान का प्रभाव”, जर्नल ऑफ ऐटमोस्फेरिक एंड सोलर-टेरेस्ट्रियल फिज़िक्स।
  • उमा और अन्य, 2021. “दो ट्रॉपिकल स्टेशनों के प्रत्यक्ष वीएचएफ रडार मापों के साथ पुन: विश्लेषण और गुणात्मक तुलना करते हुए ऊर्ध्वाधर वायु गति का आकलन”, ऐटमॉस्फेरिक केमिस्ट्री एंड फिज़िक्स।
  • विनीत और अन्य, 2021. “एक्स-क्लास फ्लेयर के दौरान डिप इक्वेटर पर थर्मोस्फीयर O1D 630.0 एनएम डेग्लो की विलंबित प्रतिक्रिया के लिए इक्वेटोरियल फाउंटेन की भूमिका”, जर्नल ऑफ जिओफिज़िकल रीसर्च।

एमबीएलपी

माइक्रोवेव एवं
परिसीमा स्तर भौतिकी


 

आईटीएमपी

आयनमंडल तापमंडल
चुंबकमंडल भौतिकी शाखा


 

एटीआरएफ

ऐरोसॉल, ट्रेस गैस
तथा रेडिएटिव फोर्सिंग


 

पीएसबी

ग्रहीय
विज्ञान


 

एनएएम

संख्यात्मक
वायुमंडल मॉडलिंग


 

एटीडी

वायुमंडल
प्रौद्योगिकी


 

एडीबी

वायुमंडलीय
गतिकी शाखा


 

परियोजाएं

वायुमंडलीय
और अंतरिक्ष विज्ञान